आप यहाँ पर हैं

दाग छाइयां कील मुंहासे झुर्रियां ख़त्म ‪कर ‎चेहरा सुन्दर बनने के आयुर्वेदिक उपाय

‪‎

हमारे खान पान की वजह से हमारी त्वचा पर भी प्रभाव पड़ता है. जिसकी वजह से हमारी त्वचा पर  दाग छाइयां कील मुंहासे झुर्रियां  Wrinkles, Acne Scars Nail Chhaiyan हो जाती है. जो हमारी सुन्दरता पर एक दाग की तरह है. और इस सबका कारण हमारा खान पान सही न होना है. इन्हें हटाने के लिए हमें महंगे सोंदर्य प्रसाधन का उपयोग करना पड़ता है. जिससे कई बार तो हमारा बजट भी ख़राब हो जाता है. तो आइये आज हम आपके इन महंगे सोंदर्य प्रसाधनो से छुटकारा दिलवाते है. इनकी जगह हम फल और सब्जियों का उपयोग कर सकते है.दाग छाइयां कील मुंहासे झुर्रियां

loading...

दाग छाइयां कील मुंहासे झुर्रियां ख़त्म ‪कर ‎चेहरा सुन्दर बनने के आयुर्वेदिक उपाय

चुकंदर : चुकंदर के रस में थोड़ी सी मात्रा सिरके की मिलाकर यदि बालों के जड़ों में लगाया जाए तो रूसी दूर हो जाएगी.

टमाटर : टमाटर के गूदे को चेहरे व गर्दन पर लगाकर एक घंटे के लिए छोड़ दें तथा फिर गुनगुने पानी से धो लें. ऐसा प्रतिदिन करें, तो इससे रंग गोरा हो जाएगा तथा कील, मुंहासे इत्यादि स्वत: समाप्त हो जाएंगे.

मेथी : मेथी को पीसकर उसकी पेस्ट बनाकर प्रतिदिन सिर में लगाने से बाल लंबे होते हैं, प्राकृतिक रंगत लिए रहते हैं व मुलायम बनते हैं. इस पेस्ट को प्रतिदिन रात में सोने से पहले चेहरे पर लगाने व 30 मिनट उपरांत चेहरा गुनगुने पानी से धोने पर दाग, छाइयां व कील मुंहासे व झुर्रियां समाप्त हो जाते हैं. इससे त्वचा का रंग भी गोरा हो जाता है तथा आप अपनी उम्र से काफी छोटी प्रतीत होती हैं.

पुदीने की पत्तियां : पुदीने की ताजा पत्तियों का रस यदि प्रतिदिन रात्रि में चेहरे पर लगाया जाए तो यह मुंहासों से रक्षा करके त्वचा मुलायम बनाता है.

धनिया : एक चम्मच धनिये के रस में एक चुटकी हल्दी मिला दें व मुंहासों, कीलों व रूखे चेहरे की त्वचा पर लगायें, चेहरा साफ हो जाएगा. इस मिश्रण को सदैव रात्रि में चेहरा धोकर ही लगाना चाहिए.

loading...

लहसुन : यदि दिन में कई बार कच्चे लहसुन को मुंहासों पर रगड़ा जाए तो मुंहासे बिना दाग -धब्बे छोड़े समाप्त हो जाते हैं. लहसुन को खाने से रक्त शुद्ध होता है, इससे त्वचा भी अधिक जीवंत व साफ हो जाती है.

खीरा : खीरे को पीसकर चेहरे, गर्दन पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें, इसके बाद चेहरा धो लें. चेहरे की खूबसूरती में चार चांद लग जाएंगे. इसके नियमित प्रयोग से मुंहासे, कील झुर्रियां व खुश्कता समाप्त होती है.

आलू : कच्चे आलू का रस चहेरे के दाग, धब्बे छुड़ाने में सहायक है. आलू में पोटेशियम सल्फर व फास्फोरस, क्लोरीन काफी मात्रा में होता है जोकि त्वचा को साफ करता है. आलू को पीसकर उसके गूदे को रात्रि में पूरे चेहरे पर मलें व प्रात:काल मुंह धोयें. इससे त्वचा जवान व चमकदार बन उठेगी.

अंगूर : इसके नियमित सेवन से रक्त में वृद्धि होती है. बाल व आंखें चमकदार बनी रहती हैं. यह त्वचा को कांतियुक्त, स्वïस्थ व कोमल बनाए रखता है.

संतरा : संतरा खाने से त्वचा स्वस्थ रहती है. इसके छिलकों को सुखाकर उसके पाउडर से उबटन बनाकर लगाया जाए तो सांवली त्वचा का रंग निखर जाता है.

नींबू : शहद के साथ नींबू का रस मिलाकर लगाने से त्वचा का रंग निखरता है व त्वचा कोमल बनी रहती है. बालों के सौंदर्य में भी उपयोगी है और कई तकलीफ व बीमारियों से बचाव करता है.

सेब : नित्य प्रात: भूखे पेट सेब खाकर ऊपर से दूध पिया जाए तो एक-दो माह में ही त्वचा का रंग निखरेगा, चेहरे पर लाली झलकेगी. सेब का रस मस्सों पर लगाने से मस्सों के छोटे-छोटे टुकड़े होकर जड़ से गिर जाते हैं.

आम : आम का सेवन करने से त्वचा का रंग साफ होता है, रूप में निखार आकर चेहरे की चमक बढ़ती है.

अनार : अनार के छिलकों को सुखाकर बारीक पाउडर बनाकर गुलाब जल के साथ मिलाकर उबटन की तरह लगाने से शरीर के दाग, चेहरे की झाइयां भी नष्ट होती हैं.

You May Be Interested

Leave a Reply