आप यहाँ पर हैं

आंवला (Amla) एक दैवीय पेड़ होने के साथ–साथ एक ओषधिय पौधा भी है

आंवला (Amla) एक दैवीय पेड़ होने के साथ–साथ एक ओषधिय पौधा भी है. पुराणों में आवले के बारे में बहुत सी बातें प्रचलित हें . Amla आंवला में विटामिन c भरपूर मात्र में होने के कारण ये हमारे शरीर के लिए हर प्रकार से उपयोगी होता है. आवले को हम बड़ी ही आसानी से और किसी भी तरह से उपयोग कर सकते है और सबसे अच्छी बात ये है इसे चाहे हम सुखाएं, उबालें या भूनें इसके गुण नस्ट नहीं होते हर रूप में ये गुणों से भरपूर रहता है इसे हम सब्जी में डाल कर सुखा कर पाउडर बना कर भी प्रयोग कर सकते हैं. Amla आवले को हम मुरब्बा, चटनी या कैंडी बना कर भी खा सकते है आवले के बहुत सारे फायदे है इसके नियमित सेवन से व्यक्ति सारी उमर जवान बना रहता है. बाल हमेशा काले दांत मज़बूत और रंग गोरा बना रहता है आवले के कुछ गुण इस प्रकार के है .Amla

आंवला (Amla) एक दैवीय पेड़ होने के साथ–साथ एक ओषधिय पौधा भी है

1- आंवला (Amla) पाउडर रात को पानी में किसी लोहे के पात्र में भिगोएँ और सुबह अपने सिर में लगाएं इस से बाल काले और घने होते हैं .
2- सुबह, शाम एक –एक चम्मच आंवला पाउडर शक्कर के साथ दूध से लें इस से एसिडिटी ठीक होती है .3- एक चम्मच आंवले के रस में शहद मिला कर रोज चाटने से आखों की रोशनी बढती है .

loading...

4- रोज खाली पेट एक चम्मच आंवला चूर्ण पानी में घोल कर पीने से कोलस्ट्रोल स्थिर रहता है

5- आंवला चूर्ण मूली के साथ खाने से 40 दिन में मूत्राशय की पथरी टूट कर बाहर निकल जाती है .

loading...

6- कुछ दिन आंवले का रस पीने से पेट के कीड़े नस्ट होते हैं .

7- आंवले का मुरब्बा रोज 3 महीने तक खाने से रंग गोरा होता है .

8- आंवला रस पीने से शरीर से बदबू नहीं आती .

9- सुबह शाम आंवला चूर्ण लेने से बबासीर नहीं होता .

10- नक्शीर चलने पर 4-5 बूंद आंवला रस की नाक में डालने से नक्शीर बंद हो जाती है .

11- एक चम्मच आंवला चूर्ण रोज खाने से बाल काले घने और मजबूत बने रहते है .

12- 4–5 आवलों का जूस रोज पीने से शुगर हमेशा के लिए ठीक हो जाता है .

13- ताजा आंवला पीस कर माथे पर लेप करें सिर दर्द ठीक हो जायेगा .

14- रोज सुबह आवले का मुरब्बा खा कर एक गिलास दूध पीने से दिमाग तेज बना रहता है

15- आंवला चूर्ण सरसों या तिल के तेल में मिला कर लगाने से खुजली ठीक होती है .

16- रोज ताजा आंवलो का रस शहद में मिला कर पीने के बाद एक गिलास दूध पी लेने से व्यक्ती सारी उम्र स्वस्थ बना रहता है और सारा दिन शरीर में एक नई शक्ती बनी रहती है .

17- एक चम्मच आंवला चूर्ण दो चम्मच शहद मिला कर 40 दिनों तक खाने से महिलाओं में होने बाली श्वेतप्रदर नामक बीमारी ठीक हो जाती है .

18- आंवला, तिरफला और शीकाकाए को कूट पीस कर चूर्ण बना लें इस पाउडर को रात को लोहे की कड़ाही में पानी में फिगो दें और सुबह इसे सिर में लगायें और आधा घंटे बाद सिर धुलें एसा नियमित करने से बाल हमेशा काले घने और लम्बे बने रहते हैं और कभी सफेद नहीं होते .

इनके आलावा आंवला के और भी बहुत सारे गुण तथा विभिन्न उपयोग हैं. अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले .

You May Be Interested

2 thoughts on “आंवला (Amla) एक दैवीय पेड़ होने के साथ–साथ एक ओषधिय पौधा भी है

  1. […] आवला प्राचीन काल से ही आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है. यह फल विटामिन c से भरपूर होता है इसके प्रयोग से हम बालों का झड़ना, रोक सकते हैं और बालों का रंग काला तथा बालों को मजबूत बना सकते हैं. […]

  2. […] आवला– नीबू के रस में आवला पाउडर मिला कर बालों की जड़ों में लगायें और आधा घंटे बाद धोलें. ये उपाय हफ्ते में 2 बार जरूर करें. इससे सफेद बाल काले हो जाते हैं. […]

Leave a Reply