आप यहाँ पर हैं

20 दर्द निवारक (Pain Killer) आपकी रसोई में ही है उपलब्ध

तब आप क्या करेंगे? यदि आप कमरदर्द, दांत दर्द या फिर किसी अन्य दर्द से परेशान हैं. लेकिन घर में कोई दर्द निवारक (Pain Killer) भी नहीं है. आप लोगो से मदद के लिए कहेंगे. शायद उनके पास कोई दर्द की दवा हो. लेकिन जब तक आप के पास वो दवा आयेगी. तब तक समय के साथ आपका दर्द बहुत ज्यादा भी बढ़ सकता है. ऐसी स्तिथि में आप इस असहनीय दर्द को दबाने के लिए क्या कर सकते हैं?

समाधान आपके रसोई घर में है. आपको सिर्फ अपनी रसोई तक जाना है. वहा पर आपको बहुत से दर्द निवारक (Pain Killer) मिल जायेंगे. जो कि बाज़ार में उपलब्ध दर्द निवारक (Pain Killer) से कही ज्यादा असरदार हैं. यहाँ पर हम आपको ऐसे ही 20 दर्द निवारक (Pain Killer) से रूबरू करवा रहे है. तो आइये डालते है एक नजर इन 20 दर्द निवारक (Pain Killer) पर.दर्द निवारक

loading...

20 दर्द निवारक (Pain Killer) आपकी रसोई में उपलब्ध

1. हल्दी पुराने दर्द के लिए (Turmeric For Chronic Pain)

हल्दी किसी भी पुराने दर्द के लिए बहुत ही असरदार है. अगर आप हल्दी का ¼ चमम्च हर रोज दूध में मिलाकर पिते है तो यह आपको पुराने दर्द से निजात दिला सकता है.

बहुपयोगी हल्दी (Turmeric) के औष्धिय गुण

2. सेब का सिरका सीने की जलन के लिए (Apple Cider Vinegar For Heartburn)

एक छोटी चम्मच सेब का सिरका एक गिलास पानी के साथ मिलाकर खाने से 1 घंटा पहले पीने से सीने की जलन से मुक्ति दिलाएगा.

सेब (Apple) एक फायदे अनेक

3. जई पेट की निचले हिस्से के दर्द के लिए (Oats For Endometrial Pain)

जई (Oats) ग्लूटेन रहित होता है. 25 Gm जई (Oats) हर रोज खाने से आपको पेट की निचले हिस्से के दर्द से राहत दिलाएगा.

दलिया (Oatmeal) के आयुर्वेदिक फायदे

4. अदरक मांसपेशियों में दर्द के लिए (Ginger For Muscle Pain)

अपनी हर रोज की खुराक में 1 या 2 चम्मच अदरक लेने से मांसपेशियों में दर्द में आपको मदद मिलेगी. यह ऑस्टियोआर्थराइटिस में भी लाभदायक है.

अदरक (Ginger) केवल खाने का स्वाद ही नहीं बढाता

5. अलसी का बीज छाती के दर्द के लिए (Flax Seeds For Breast Pain)

हर रोज एक चम्मच अलसी का बीज छाती के दर्द के से राहत दिलवाएगा.

6. टमाटर का जूस पैरों की ऐंठन के लिए (Tomato Juice For Leg Cramps)

जैसा कि हम जानते है टमाटर पोटैशियम से भरपूर होता है. हर रोज 8 औंस टमाटर का जूस पीने से आपको यह पैरों की ऐंठन से राहत दिलाएगा.

टमाटर (Tomato) के आयुर्वेदिक और औष्धिय गुण

7. अनानास गैस की समस्या के लिए (Pineapple For Gastic Problem)

हर रोज एक कप अनानास का जूस पीने से आपको गैस की समस्या से छुटकारा मिलेगा.

8. लौंग दांत दर्द और मसूडो की सुजन के लिए (Cloves For Toothache And Gum Inflammation)

अगर आपको दांत में दर्द है. तो लौंग चबाने से दन्त का दर्द सेकंडो में छूमंतर हो जायेगा. यह दन्त दर्द और मसुडो की सुजन के लिए प्रयोग किया जाने वाला सबसे पुराना उपाय है.

लौंग (Clove) है आयुर्वेदिक तथा औषधीय गुणों से भरपूर

9. दही PMSing के लिए (Yogurt For PMSing)

हर रोज 2 कप दही खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है. Specially Premenstrual syndrome (PMS) के लिए.

दही (Curd) के अनदेखे आयुर्वेदिक और औष्धिय गुण

10. सेंधा नमक थके पैरों तथा अंदर की नाख़ून बढ़ना (Epsom Salt For Weary Feet or Ingrown Toenail)

अगर आपके पैर थके हुए या फिर आपके पैरों के नाख़ून अन्दर की और बढे हुए है. तो आप पैरों को धोकर ही छुटकारा पा सकते है. एक टब में गर्म पानी में आधा कप सेंधा नमक मिलाये. अब इसमें अपने पैरों को आधे घंटे थक डुबो कर रखें. आपके पैरो की थकावट झट से दूर होगी. तथा आपके पैर कोमल हो जायेंगे.

loading...

सेंधा नमक (Rock Salt) प्राक्रतिक नमक

11. लहसुन कान में संक्रमण और कान का दर्द के लिए (Garlic For Ear Infection And Ear Pain)

लहसुन कान में संक्रमण और कान का दर्द के लिए सबसे प्रभावकारी उपाय है. बस आपको एक लहसुन की ताजा कली लेनी है. अब उसे अपने कान में रख ले. कान के उपर बैंडेज लगा ले. ताकि लहसुन की कली बाहर नहीं निकले. ऐसा पूरी रात के लिए करना है. जब आप सुबह उठेंगे तो आप पाएंगे की कान का दर्द और संक्रमण गायब है. अब आप बैंडेज हटाकर लहसुन की कली निकाल सकते है.

लहसुन (Garlic) में है बहुत से ओषधिय गुण

लहसुन का शैम्पू (Garlic Shampoo) बालों को झड़ने से रोके

12. कच्चा शहद मुह के छालों तथा नासूर के लिए (Raw Honey For Cold Sores Or Canker Sores)

मुहँ के छालों तथा नासूर पर कच्चा शहद लगाने से मुह के छालों तथा नासूर से आराम मिलेगा. ऐसा दिन में 3 बार करना है.

शहद (Honey) के औष्धिय गुण

13. तैलीय मछली सुजन के लिए (Oily Fish For Inflammation)

कोई भी तैलीय मछली जैसे की Mackerel, Salmon Or Tuna खाने से सुजन की समस्या से छुटकारा मिलेगा.

14. क्रैनबेरी मूत्राशय तथा मूत्राशय नली में संक्रमण के लिए (Urinary Bladder And Urinary Tract)

क्रैनबेरी से आप मूत्राशय तथा मूत्राशय नली में संक्रमण से राहत पा सकते है. आप आधा कप क्रैनबेरी हर रोज खा सकता है.

15. चेरी सरदर्द और जोड़ों के दर्द के लिए (Cherry For Headache And Joint Pain)

एक गिलास चेरी का जूस पीने से सरदर्द और जोड़ों के दर्द से राहत मिलेगी.

16. सहजन साइनस दर्द के लिए (Horseradish For Sinus Pain)

सहजन साइनस के दर्द के लिए एक बहुत ही प्रभावकारी उपाय है. ¼ चम्मच ताजा कद्दुकाश किया हुआ सहजन ले और इसका जूस चुसे. इससे साइनस दर्द में आराम मिलेगा.

सहजन पेड़ (Drumstick Tree) आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

17. अंगूर पीठ दर्द के लिए (Grapes For Back Pain)

एक कप अंगूर हर रोज खाने से पीठ के दर्द से आराम मिलेगा.

18. कॉफ़ी पुराने सरदर्द के लिए (Coffee For Chronic Headache)

एक कप कॉफ़ी हर रोज पीने से पुराने सरदर्द तथा Migrains से राहत मिलती है.

वजन घटाने का मिक्सचर (Weigh Loss Mixture) काफी के साथ

19. पुदीना का तेल दुखती मांसपेशियाँ के लिए (Peppermint Oil For Sore Muscles)

नहाते समय पानी में पुदीना का तेल की कुछ बूँदें मिलकर नहाने से दुखती मांसपेशियाँ में तुरंत आराम मिलता है. तुरंत आराम के लिए जहाँ पर दर्द है. वहां पर पुदीना का तेल लगाने से तुरंत आराम मिलेगा.

नीबू पोदीना अदरक (Mint Lemon Ginger) का शरबत

20. पानी शरीर को हाइड्रेटेड के लिए (Water For Body Hyderate)

अंतिम लेकिन किसी से काम नहीं. प्रचुर मात्रा में पानी पीने से आपका शरीर हाइड्रेटेड होता है. जिससे बहुत सी समस्याओं से छुटकारा मिलता है. हर रोज 8 गिलास या ज्यादा पानी पीने से माइग्रेन से मुक्ति मिलती है. यह हिस्टामिन की समस्या को भी ख़त्म करता है.

हमें हमेशा केमिकल से भरे दर्द निवारक दवाओं की अपेक्षा प्राक्रतिक विकल्पों को ही अपनाना चाहिए. ये हमारे शरीर को कोई नुक्सान नहीं पहुचाते.

उम्मीद करती हूँ कि यह लेख पढने में आपको अच्छा लगेगा. अपनी राय निचे कमेंट बॉक्स में जरुर दें.

धन्यवाद

You May Be Interested

Leave a Reply