आप यहाँ पर हैं

स्टेमिना (Stamina) बढ़ाने के लिए जबदस्त मसाज तेल

स्टेमिना (Stamina) – आयुर्वेद में हमेशा से ही सुगंधित तेलों के प्रयोग पर जोर दिया गया है.  मसाज (Massage) के लिए नारियल, तिल या फिर जैतून का तेल बहुत अच्छा रहता है. तेल का चुनाव हम मौसम को देखते हुए भी कर सकते है.

ज्यादातर देखा गया है कि चंदनबाला, दशमूल, नारायण तेल, शतावरी तेल व लाक्षा तेल के प्रयोग पर जोर दिया गया है. इन सुगंधित तेलों (Oil) के प्रयोग से बहुत लाभ मिलता है. मालिश (Massage)के लाभ के साथ इनकी खुशबू का भी हम पर असर होता है. सुगंधित चीजों से सेक्स की इच्छा बढ़ जाती हैं. जिनको सेक्स संबंधी कोई कमजोरी है. वो इनके प्रयोग से बिना दवा के भी ठीक हो सकते हैं.स्टेमिना (Stamina)

loading...

मसाज (Massage)का सही तरीका क्या है

मसाज (Massage) के लिए सबसे पहले सुगंधित तेल हथेलियों पर लगाकर जिस अंग की मालिश करनी हो उस पर हल्के से दबाव डालकर मालिश करें. यह मालिश तब तक करें. जब तक तेल पूरी तरह न सोख ले और अंग की त्वचा हल्की लाल न हो जाए। यह मालिश शीघ्रपतन के रोगियों के लिए काफी लाभदायक होती है.

मालिश इस तरह से करें कि रक्तप्रवाह ऊपर की ओर हो. लेकिन मालिश की शुरूआत पैरों से करें और शरीर के अंगों को मसाज करते समय हाथों व मूवमेंट की दिशा नीचे से ऊपर की ओर होनी चाहिए. आप हाथों की मालिश उंगुलियो से शुरू करके कंधों की तरफ जाएँ.

मसाज की दिशा शरीर में हो रहे रक्तसंचार की दिशा से विपरीत नहीं होनी चाहिए. पैर के तलुओं से शुरू करके फिर पैर की उंगलियो, पिंडलियों, जांघो की मालिश करनी चाहिए. उसके बाद फिर हाथों, भुजाओं, पेट, वक्षस्थल, पीठ, कंधो की मालिश करें.

जांघों के अंदरूनी भाग, हाथ पैरों के उंगलियों के बीच में, स्तनों के पास मालिश (Massage) करने से सेक्स उत्तेजना बढाने में विशेष लाभ मिलता है. इस प्रकार की मालिश से महिलाएं अपने शरीर को आकर्षक बना सकती हैं.

स्तनों का सेक्स में काफी महत्व है. महिलाओं के स्तन कम विकसित हैं तो वे स्तनों पर हल्के दबाव के साथ घर्षण करते हुए स्तनों की मालिश करें.

स्टेमिना (Stamina) बढ़ाने के लिए जबदस्त मसाज तेल

आज अधिकतर लोग शीघ्रपतन और नपुंसकता से पीडित हैं. इसके कारण वो सेक्स सुख से वंचित रहते हैं, पति की कमजोरी के कारण स्त्रियाँ भी सेक्स सुख नहीं ले पातीं. ऎसी हालत में खास तरीके से बने तेल से मालिश करने से सेक्स प्रॉब्लम्स को दूर करके सुख की अनुभूति ली जा सकती है.

loading...

1. सेक्स शक्ति बढ़ाने का तेल बनाने की सामग्री

  • श्वेत चंदन – 5 Gram
  • लाल चंदन – 5 Gram
  • पतंग – 5 Gram
  • कालीयक की लक़डी – 5 Gram
  • अगर – 5 Gram
  • देवदारू – 5 Gram
  • सरल काष्ठ – 5 Gram
  • पद्दाख – 5 Gram
  • तून की लक़डी – 5 Gram
  • कपूर – 5 Gram
  • कस्तूरी – 5 Gram
  • शिलारस -5 Gram
  • केशर – 5 Gram
  • जायफल -5 Gram
  • चमेली के पत्ते – 5 Gram
  • लौंग – 5 Gram
  • छोटी इलायची -5 Gram
  • ब़डी इलायची -5 Gram
  • शीतलचीनी -5 Gram
  • दालचीनी -5 Gram
  • तेजपाल -5 Gram
  • नागकेशर -5 Gram
  • सुगंधबाला -5 Gram
  • खस -5 Gram
  • जटामांसी -5 Gram
  • छैल छरीला -5 Gram
  • नागरमोथा -5 Gram
  • रेणुका -5 Gram
  • प्रियंगु -5 Gram
  • गंधबिरोजा -5 Gram
  • कपूर -5 Gram
  • गूगल -5 Gram
  • लाख -5 Gram
  • नखी -5 Gram
  • राल -5 Gram
  • धाय के फूल -5 Gram
  • गाठबन -5 Gram
  • मजीठ -5 Gram
  • तगर -5 Gram
  • मोम -5 Gram

बनाने और उपयोग की विधि – उपर दी गई सामग्री किसी पंसारी से मिल जायेगी. सभी सामग्री का वजन 200 Gram होगा इनको पीसकर चूर्ण बना लें. एक किलो तिल के तेल में मिलाकर तेल सिद्ध कर लें. इसे महा-चंदानादि तेल कहते हैं. इस तेल से मालिश करने से सेक्स पावर बढ़ता है, यह तेल शरीर में जलन, प्रस्वेद, दुर्गध, कुष्ठ, रक्तपित्त, क्षय, ज्वर और खुजली को भी नष्ट करता है.

2. भिलवा तेल की सामग्री

  • भिलवा – 100 Gram
  • बडी कटेरी – 100 Gram
  • अनार के फल का छिलका – 100 Gram

बनाने और उपयोग की विधि – अब आप तीनों को समान मात्रा मे लेकर 300 Gram पेस्ट बना लें. फिर इसे चौगुने (1किलो) सरसों के तेल और चार लीटर पानी में मिलाकर पकाएं. जब सिर्फ तेल रह जाए तो इसे उतारकर छान लें. शीशी में रख लें. पुरूष की जननेंद्रिय पर इस तेल से मालिश करने से कमजोरी दूर होगी. वह लंबे समय तक सेक्स कर पाएगा.

3. अश्वगंधा तेल की सामग्री

  • अश्वगंधा
  • शतावरी
  • कूठ
  • जटामांसी
  • छोटी व बडी कटेरी के फूल

बनाने और उपयोग की विधि – इन सभी को समान मात्रा में लेकर 250 Gram पेस्ट बना लें. इसे एक किलों तिल का तेल और चार लीटर दूध में मिलाकर पका ले. जब तेल बचे तो रख ले. इस तेल की मालिश करने से पुरूषों की जननेंद्रिय व महिलाओं के स्तन दृढ होते हैं.

4. विशेषकर पुरुषो के लिए चमत्कारी तेल का प्रयोग

  • दालचीनी का तेल
  • बादाम का तेल
  • जमालगोटा का तेल
  • पिस्ता का तेल

बनाने और उपयोग की विधि – सभी तेल समान मात्रा में लेकर. एक साथ मिलाकर रख लें. इसे एक बूद की मात्रा में रात को सोते समय अपनी इंद्रिय पर लगाये. ऊपर से पान का पत्ता बांधकर सो जाएं. इस तेल का प्रयोग एक महिने तक करने से पुरुष अंग का टेढापन, पतलापन एंव असमानता दूर हो जाती है. वो शक्तिशाली हो जाता है.

You May Be Interested

Leave a Reply