आप यहाँ पर हैं

साधारण डिलिवरी करवाने के लिए हर माँ अपनायें ये आसान उपाय

हर महिला की ये चाहत होती है कि उसका बच्चा बिलकुल स्वस्थ पैदा हो. इसके लिए उन्हें बहुत सी बातों को ध्यान रखना पड़ता है. आपको पता होना चाहिए कि साधारण डिलिवरी और सिजेरियन डिलिवरी में क्या फर्क होता है. अगर किसी महिला की सिजेरियन डिलिवरी होती है. तो उसे बाद में बहुत सी बातों को ध्यान में रखना पड़ता है. जैसे कि खान-पान, कामकाज. अगर वह अपना ख्याल नहीं रखती तो उनके स्ट्रैच मार्क्स पड़ सकते है और उसके लिए खतरा भी बन सकता है.

लेकिन साधारण डिलिवरी में ऐसा नहीं होता है. इसमें महिला को किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता. साधारण डिलिवरी में मां और बच्चा दोनों ही मानसिक और शरीरक तोर पर तंदरुस्त रहते है. इसलिए अधिकतर महिलाएं साधारण डिलिवरी करवाना ही पसंद करती हैं. पर साधारण डिलिवरी तभी संभव हो पाती है. जब महिला गर्भावस्था के दौरान इन बातों को ध्यान मे रखती है और इन पर अम्ल करती है. तो आइए जानते हैं ये बातें जिनसे आप भी साधारण डिलीवरी करवा सकती है.साधारण डिलिवरी करवाने के लिए हर माँ अपनायें ये आसान उपाय

loading...
loading...

साधारण डिलिवरी करवाने के लिए हर माँ अपनायें ये आसान उपाय

आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए
जब महिला कमजोर हो जा फिर उसमें खून की कमी हो तो बच्चे को जन्म देते समय उसे बहुत पीड़ा होती है. इसलिए हर महिला अपने खान-पान और स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखें.
भोजन में ज्यादा आयरन और कैल्शियम ले
गर्भवती महिला को डॉक्टर के बताये अनुसार ही भोजन करना चाहिएं. क्योंकि जब महिला की साधारण डिलिवरी होती है. तो उस समय शरीर में से 300-400 ML ब्लड जाता है. ऐसे में महिला को जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा आयरन और कैल्शियम वाले आहार ही लेने चाहिएं.
शरीर में पानी की कमी न होने दे
महिला को गर्भावस्था में हर रोज 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिएं. क्योंकि ऐसी स्थिती में बच्चा गर्भाशय में एक तरल पदार्थ सेभरी हुई झोली में रहता है. इस झील में एमनियोटिक फ्लयूड होता है, जिससे आपके बच्चे को गर्भ में ऊर्जा मिलती है.
गर्भावस्था में महिला को पैदल चलना चाहिए
वैसे तो सभी कहते है कि गर्भावस्था में महिला को आराम करना जरूरू होता है, पर अगर ऐसे में वह ज्यादातर पैदल चले तो यह बच्चे और मां दोनों के लिए अच्छा होता है. अगर महिला बाजार जाना चाहती है तो वह पैदल चल कर ही जाएं ताकि उसका स्वास्थ्य अच्छा रहें.
हर रोज व्यायाम करना चाहिए
अगर महिला प्रेगनेंसी से पहले हर रोज या फिर गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करती है तो ऐसे में उसकी डिलिवरी नार्मल होने के ज्यादा चांस होते है. व्यायाम करने से महिला की मांसपेशियां मजबूत होती है, जिसके कारण उसे बच्चे को गर्व में रखने में कोई दिक्कत नहीं आती. ऐसा करने से आपका बच्चा भी स्वस्थ पैदा होगा.

You May Be Interested

Leave a Reply