आप यहाँ पर हैं

लीवर की जानलेवा बिमारियों से बचने का रामबाण घरेलू उपाय

लीवर की खराबी का सही समय पर अगर इलाज़ न करवाया जाये तो यह बिमारी बहुत ही भयंकर रूप ले लेती है. इस बीमारी से व्यक्ति की जान भी जा सकती है. लीवर का कमज़ोर होना. या फिर लीवर की खराबी इस भयंकर बिमारी के कई कारण हो सकते है. लीवर में बार बार दर्द होना, भूख का कम लगना इस बिमारी के कुछ मुख्य लक्षण है.

ये भी पढ़े – बड़ी से बड़ी पथरी को ख़त्म कर देगा ये चमत्कारी सस्ता घरेलू उपाय

loading...

लीवर सूज जाने से खाना आँतों मे सही तरह से नहीं पहुँच पाता. खाना ठीक तरह से हज़म नहीं हो पाता. खाना ठीक से हजम न हो पाने और बहुत से रोग लग जाते है. आज हम आपके लिये एक ऐसा ही उपाय लेकर आये है. जो आपको लीवर की खराबी से बचाता है.लीवर की जानलेवा बिमारियों से बचने का रामबाण घरेलू उपाय

लीवर की जानलेवा बिमारियों से बचने का रामबाण घरेलू उपाय

लीवर की खराबी का आसान रामबाण उपाय
एक अच्छा पका हुआ कागजी निम्बू लेकर उसके दो टुकड़े कर लें. फिर निम्बू के बीज निकाल कर आधे नीबू चार भाग करें पर ध्यान रहे टुकड़े अलग अलग न होने पायें. इसके बाद एक भाग में काली मिर्च का चूर्ण, दूसरे में काला नमक या सेंधा नमक, तीसरे में सौंठ का चूर्ण तथा चौथे में मे मीश्री का चूर्ण या शक्कर चीनी भर दें. रात को इसे एक प्लेट में रखकर ढंक दें. सुबह नाश्ता करने से एक घंटे पहले इन टुकड़ों को हलकी आग या तवे पर गर्म कर के रस चूस लें.

ये भी पढ़े – पुरानी से पुरानी बवासीर सिर्फ 3 दिन में ठीक करने का चमत्कारी उपाय

ध्यान देने योग्य विशेष बात

loading...
  1. यह उपाय 15 दिन से 21 दिन तक करने से लीवर ठीक होगा.
  2. इससे पेट दर्द और मुँह का जायका भी ठीक हो जाएगा. भूख बढ़ जाएगी. सिरदर्द तथा पुरानी से पुरानी कब्ज भी दूर हो जायेगी.
  3. लीवर के कठोर तथा छोटा होने के रोग (Cirhosis of the liver) में यह बहुत अचूक उपाय है.

ये भी पढ़े – मधुमेह का काल हार्ट अटैक में भी लाभदायक आजमाए ये चमत्कारी सस्ता घरेलू उपाय

इन उपायों को साथ इसके साथ करे

  1. इस उपाय के दौरान दो सप्ताह तक चीनी का इस्तेमाल न करें. चीनी की जगह दूध में चार या पाँच मुनक्का डाल कर मीठा कर लें. रोटी भी कम खानी चहिये. सब्जी में मसाला न डालें. गाजर, बथुआ, करेला, लौकी, टमाटर, पालक, आदि शाक सब्जियाँ और पपीता, ऑवला का सेवन करें. धी तथा तली वस्तुओं का प्रयोग कम से कम करें. पन्द्रह दिन में ही आपका जिगर ठीक हो जाएगा.
  2. जिगर के सिकुड़ने में दिन में दो बार प्याज खाने से भी लाभ होता है.
  3. जिगर रोगों में छाछ में हींग, जीरा काली मिर्च और नमक मिलाकर दोपहर के भोजन के बाद पीना बहुत लाभदायक होता है.

ये भी पढ़े – कैंसर के मरीजों के लिए खुशखबरी कीमोथैरेपी से हजारो गुणा सस्ता उपाय

  1. ऑवलों का चूर्ण चार ग्राम पानी के साथ दिन में तीन बार लेने से 15-20 दिन में लीवर के सारे दोष दूर हो जाते हैं.
  2. 100 ग्राम पानी में आधा नीबू निचोडकर नमक डालें और दिन में तीन बार पीने से जिगर की खराबी ठीक होगी.
  3. जामुन के मौसम में 200 या 300 ग्राम पके हुए जामुन प्रतिदिन खाली पेट खाने से जिगर की खराबी दूर हो जाती है। 40, तिल्ली अथवा जिगर (यकृत) व तिल्ली (प्लीहा) दोनों के बढ़ने पर पुराना गुड़ डेढ़ ग्राम और बड़ी (पीली) हरूड के छिलके का चूर्ण बराबर वजन मिलाकर एक गोली बनायें और ऐसी गोली दिन में दो बार प्रातः सायं हल्के गर्म पानी के साथ एक महीने तक लें। इससे यकृत (Liver) और प्लीहा (Spleen) यदि दोनों ही बढ़े हुए हों, तो भी ठीक हो जाते हैं। विशेष-इसके तीन दिन के प्रयोग से अम्लपित्त का भी नाश होता है।

दोस्तों अगर लेख पसंद आये तो शेयर जरुर करे.

You May Be Interested

Leave a Reply