आप यहाँ पर हैं

फफोले (Blister) से छुटकारा पाने के नायाब घरेलू उपाय

कई बार त्वचा पर ब्लिस्टर यानी फफोले (Blister) हो जाते हैं. इनके कई कारण हो सकते है. कुछ मुख्य कारण जलने से, घर्षण तथा इन्फेक्शन से भी हो जाते हैं. इनको ठीक करने के लिए बहुत से घरेलू उपाय हैं. जैसे कि ग्रीन टी, एलोवेरा, विच हेजल के प्रयोग से फफोलों (Blister) का इलाज किया जा सकता है.
फफोले (Blister) त्वचा की ऊपरी परत पर कई वजहों से पड़ जाते हैं. त्वचा (Skin) के जलने, जमने, रगड़ लग जाने या फिर इन्फेक्शन से होने वाले फफोलों में पानी भरा होता है. ये फूले हुए दिखाई देते है. इसमें भरा पानी सीरम या फिर प्लाज्मा कहलाता है. कई बार इन में खून या मवाद भी भर जाती है. इन फफोलों में दर्द होता है. फफोले से छुटकारा पाने के लिए कुछ अचूक आसान घरेलू उपाय हैं. आइये जानते हैं इन घरेलू तथा चमत्कारी उपायों के बारे में.फफोले (Blister) से छुटकारा पाने के नायाब घरेलू उपाय

फफोले (Blister) से छुटकारा पाने के नायाब घरेलू उपाय

साफ और सुरक्षित रखने के लिए ढंक लें
बैंडेज से फफोलों को सुरक्षित रखा जा सकता है. इससे फफोलों पर रगड़ लगने से बचाव रहेगा. आप बैंडेज किस तरह से लगाते हैं. फफोलों का ठीक होना उस पर निर्भर रहेगा. चिपकने वाला हिस्सा फफोले के आसपास हो और बीच का हिस्सा फफोले से ऊपर उठा होना चाहिए. इस प्रकार आप फफोलों को रगड, गंदगी तथा इन्फेक्शन से बचा सकते है. इस प्रकार छाले को सूखने के लिए जगह मिल जाएगी.

loading...

विच हेजल का इस्तेमाल
विच हेजल में एस्ट्रीजेंट तत्वों से भरपूर होता हैं. इससे ब्लिस्टर सूखेगा. विच हेजल फफोलों को साफ करने तथा उसे ठीक करने में सहायक है. साफ रूई से ब्लिस्टर पर लगाएं. आपको थोड़ी जलन हो सकती है. लेकिन ये फफोले का सबसे अच्छा व सुरक्षित घरेलू उपाय है.

loading...

एलोवेरा जेल है फायदेमंद
एलोवेरा से सूजन खत्म होती है. इससे दर्द भी कम होता है. एलोवेरा ज्यादा जलने पर भी एक प्रभावशाली दवा का काम करता है. इसके लिए एलोवेरा जैल का बहुत फायदा होता है.

ग्रीन टी बैग्स का प्रयोग
सबसे पहले ग्रीन टी के बैग्स को उबालें. एक चम्मच बेकिंग सोडा मिला दें. पानी को थोड़ा ठंडा होने दें. ग्रीन टी के पानी में अपने फफोलों को डुबा लें. अगर डुबाया नहीं जा सकता तो किसी मुलायम किसी कपड़े को डुबाकर फफोले पर रखें. फफोला मुलायम पड़ जाएगा तथा फूट जाएगा. फूटने पर फफोला बहुत जल्दी ठीक हो जाता है.

सेब का सिरका का प्रयोग
सेब के सिरके में एंटी बैक्टीरियल तत्व होते हैं. यह फफोलों में इन्फेक्शन होने से रोकता है. सिरका कर फफोले पर डालें. इससे काफी दर्द हो सकता है. फफोले में टीस सो सकती है.  फिर भी इससे आपको फायदा भी पहुंचेगा. इसके स्थान पर हाईड्रोजन पेरोक्साइड से साफ कर सकते है.

विटामिन ई का प्रयोग
विटामिन E में त्वचा की मरम्मत करने वाले पदार्थ होते हैं. विटामिन E त्वचा को तुरंत ठीक करता है और निशान नहीं पड़ने देता है. आप विटामिन E तेल या फिर क्रीम फफोले पर लगा सकते हैं. विटामिन E के कैप्सूल को फोड़ कर भी लगा सकते है.

अरंडी का तेल लगायें
अरंडी का तेल फफोले के लिए सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाला उपाय है. रात को सोने से पहले अरंडी का तेल छाले पर लगाएं. रात भर लगा रहने दें. इसे सूखने दें. सुबह तक फफोले में आराम हो जायेगा. अरंडी के तेल में थोड़ा सा सेब का सिरका मिलाकर भी लगा सकते हैं. इससे ज्यादा फायदा मिलेगा

कैसा लगा आपको ये उपाय. पसंद आया है तो शेयर करना न भूले.

You May Be Interested

Leave a Reply