आप यहाँ पर हैं

प्रसवोत्तर मालिश कराने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

प्रसवोत्तर मालिश (Postpartum Massage) का चलन अब धीरे धीरे खत्म होता जा रहा है. ये मालिश करने वाली घर पर आकर ही मालिश करती हैं. इनके अपने रेट होते है. आप अपने नजदीकी ब्यूटी पार्लर से आपके क्षेत्र की अच्छी मालिशवाली के बारे में पता कर सकती हैं. वे इनके बारे में सभी जानकारी रखते है. उनसे जानकारी हासिल करके आप उन्हें अपने घर पर ही बुला ले. इस तरह आप शिशु के पास रहकर ही अपने घर पर ही आराम से मालिश के फायदे उठा सकती हैं.प्रसवोत्तर मालिश

आज का हमारा लेख इसी विषय पर आधारित है. तो चलिए जानते है प्रसवोत्तर मालिश (Postpartum Massage) के बारे में.

loading...
loading...

प्रसवोत्तर मालिश (Postpartum Massage) कराने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

  1. सबसे पहले प्रसवोत्तर मालिश (Postpartum Massage) मालिशवाली के बारे में आसपास के लोगों से पता कर लें. असके पास वैध पहचान पत्र होना चाहिए.
  2. मालिश तब करवाएं जब आपका शिशु सो रहा हो. इससे आपको कोई परेशानी नहीं होगी.
  3. मालिश करवाते समय आप किसी प्रकार की चिंता नहीं करें.
  4. प्रसवोपरांत 14 सप्ताह के अंदर ही मालिश शुरु करने का सही समय होता है.
  5. अगर आपका बच्चा सीजेरियन हुआ है तो फिर मालिश शुरु करवाने से पहले आप घाव को भर जाने दें. इस बारे में पहले अपनी डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें.
  6. मालिशवाली को अपनेघाव और पेट पर मालिश न करने के निर्देश पहले ही दे दें. क्युकि प्रसव के बाद इतनी जल्दी उस क्षेत्र पर दबाव डालने से आपको समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं. इसलिए तब तक पैरोंसिर और पीठ की मालिश तक ही सीमित रहना सुरक्षित रहता है.
  7. घाव की मालिश आपके ऊत्तकों को आपस में चिपकने से बचा सकती है. क्युकि आपरेशन के बाद ऊत्तकों का आपस में चिपकना काफी आवश्यक है. इसलिए घाव को अवश्य बचाये.
  8. मालिश करवाना नुकसानदेह भी हो सकता हैयदि आपको त्वचा की समस्याएं जैसे कि चकत्ते, छाले, फोड़े या छाजन(एग्जिमा) है.

You May Be Interested

Leave a Reply