आप यहाँ पर हैं

प्रजनन क्षमता (Fertility) बढ़ाने के आसान घरेलू उपाय

माँ बनना किसी भी स्त्री के जीवन में अत्यधिक खुशी का पल होता है. उन के इस सपने को साकार करने में उन की प्रजनन क्षमता की अहम भूमिका होती है. पर कई बार उन का ये सपना अधूरा रह जाता है. क्यूँ की एक परिवार को बढ़ाने में प्रजनन क्षमता (Fertility) की कमी होने से यह सपना अधूरा हो जाता है. प्रजनन क्षमता (Fertility) यानि प्राक्रतिक रूप से बच्चे पैदा करना. जब किसी महिला के शुक्राणु और अंडे मिलते हैं. तब वह गर्भावस्था की ओर अग्रसर हो जाती है.

हमारी जीवन शैली में होने बाले बदलाबों ने आज महिलाओं की इस शक्ती पर बहुत बडा प्रभाब डाला है. पहले की अपेक्षा आज उन की प्रजनन शक्ती बहुत घट गयी है. कई ऐसी महिलाएं हैं. जो माँ नहीं बन पाती हैं. इस का मुख्य कारण है. उन की प्रजनन क्षमता (Fertility) में कमी. ये उन के माँ बनने का सबसे बड़ा कारण होता है. आज हम आप को इस क्षमता को बढ़ाने के आसान उपाय बतायेंगे जिन को करके आप अपनी इस शक्ती को आसानी से बढ़ा सकती हैं.प्रजनन क्षमता (Fertility) बढ़ाने के आसान घरेलू उपाय

loading...

प्रजनन क्षमता (Fertility) बढ़ाने के आसान घरेलू उपाय

केला

मासिक चक्र की अनियमितता से राहत के लिए केले का सेवन लाभकारी होता है. यह गर्भावस्था की कमियों का भी उपचार करता है. केले में मौजूद विटामिन बी 6 मासिक चक्र और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में लाभ कारी होता है.

अनन्नास

loading...

इसमें प्रचुर मात्रा में मैग्रीज पाया जाता है. यह प्रजनन के लिए आवश्यक हार्मोन्स को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है. शरीर में मैग्रीज की कमी होने से ही बांझपन की समस्या पैदा होती है. इस लिए अनानास खाने से इस समस्या से निजात पाया जा सकता है.

अंडा

इस क्षमता को बढ़ाने के लिए अंडा को सबसे बड़ा खाद्ध पदार्थ माना जाता है. यह कॉलिन, फोलिक, ओमेगा 3 फैटी एसिड का सर्वोत्तम स्रोत होता है. इसमें प्रचूर मात्रा में बिटामिन डी भी पाया जाता है. जो प्रजनन क्षमता बढ़ाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है.

हल्दी

लगभग सभी समस्याओं का इलाज हल्दी में होता है. एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर हल्दी में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के साथ-साथ गर्भावस्था में भी बहुत लाभ पहुचाने बाली होती है. और स्त्री को स्वस्थ भी रखती है.

लहसुन

लहसुन के खनिज घटकों में सेलेनीलयम का नाम भी शामिल है. यह गर्भवती होने की सम्भावना को बढ़ाता है. अर्थात इसको खाने से गर्भपात की सम्भावना कम हो जाती है.

नोट

अपनी प्रजनन प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए हमेशा संतुलित भोजन लें. माधक पदार्थों के सेवन से बचें. कैफीन युक्त पदार्थों का भी सेवन कम करें. सहवास के समय आवश्यक सावधानियाँ रखें.अपना वजन नियन्त्रण में रखें. समय रहते माँ बनने का प्रयास करें. अर्थात 35 वर्ष से पहले. मासिक धर्म की अनियमितता होते ही किसी अच्छे चिकित्सक का परामर्श लें.

You May Be Interested

Leave a Reply