आप यहाँ पर हैं

गोंद की बर्फी (Gond Burfi) जन्माष्टमी रेसिपी

गोंद की बर्फी (Gond Burfi) जन्माष्टमी रेसिपी – कृष्ण जन्माष्टमी  भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव है. जन्माष्टमी को भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में बसे भारतीय भी इसे पूरी आस्था व उल्लास से मनाते हैं. पूरे दिन व्रत रखकर नर-नारी तथा बच्चे रात्रि 12 बजे मन्दिरों में अभिषेक होने पर पंचामृत ग्रहण कर व्रत खोलते हैं. श्रीकृष्ण आजीवन सुख तथा विलास में रहे, इसलिए जन्माष्टमी को इतने शानदार ढंग से मनाया जाता है। इस दिन अनेक प्रकार के मिष्ठान बनाए जाते हैं। जैसे लड्डू, चकली, खीर इत्यादि. विभिन्न प्रकार के पकवानों का भोजन तैयार किया जाता है तथा उसे श्रीकृष्ण को समर्पित किया जाता है.

ऐसे ही पकवानों में से एक है गोंद की बर्फी (Gond Burfi). आज हम आपको गोंद की बर्फी बनाना बताएँगे. यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है. इसे बनाना भी बिलकुल आसान होता है.  तो आइये बनाते है गोंद की बर्फी (Gond Burfi).गोंद की बर्फी

loading...

गोंद की बर्फी (Gond Burfi) जन्माष्टमी रेसिपी

गोंद की बर्फी (Gond Burfi) की सामग्री

  • 50 ग्राम गोंद
  • 100 ग्राम मखाना
  • 50 ग्राम बादाम
  • 50 ग्राम काजू
  • 25 ग्राम खरबूजे के बीज
  • 1 कप कद्दूकस करा हुआ सुखा नारियल
  • 1 कप घी (गोंद तलने के लिए)
  • 2 कप चीनी
  • 1/2 छोटा चम्मच छोटी इलाइची का पाउडर
  • 1 1/2 कप पानी

 गोंद की बर्फी (Gond Burfi) की विधि

loading...
  • एक कढाई को गरम करे उसमे खरबूजे के बीज डाल के भूने जब बीज फूल जाये तो उसे बाहर निकाल ले.
  • उसी कढाई में मखाने डाल के भून के निकाल ले. फिर कद्दूकस करा हुआ नारियल धीमी आंच पर 1-2 मिनट तक भूने के निकाल ले.
  • गोंद के टुकड़े अगर बहुत बड़े हो तो उसे तोड़ के थोडा छोटा कर ले. कढाई में घी डाल के गरम करे,
  • गोंद को गरम घी में डाल के मध्यम आंच पर तले, जब गोंद फूल के बड़े हो जाये तो तुरंत कढाई से बाहर निकाल ले. गोंद बहुत जल्दी जल के कड़वा हो जाता है.
  • काजू, बादाम, और बीज को मिला के दरदरा पीस ले. मखाने को भी दरदरा पीस ले. गोंद को भी दरदरा पीस ले.
  • अब एक कढाई में पानी और चीनी मिला के गरम करे, जब एक तार की चाशनी बन जाये तो चाशनी में पिसे हुए मेवे, नारियल, मखाना, गोंद और इलाइची पाउडर डाल के अच्छे से मिलाये, जब मिश्रण थोडा सूखने लगे तो गैस बंद कर दे.
  • एक थाली में घी लगा के चिकना कर ले. बर्फी का सारा मिश्रण थाली में डाल के गीले हाथ से या फिर कलछुल के फैला के बराबर कर दे.
  • फिर ठंडा होने दे. ठंडा होने के बाद मनचाहे आकार में काट के जन्माष्टमी पर भगवान् को भोग लगाये और सबको खिलाये.

 तो इस जन्माष्टमी पर गोंद की बर्फी बनाईये और अपने बच्चों के साथ इसका आनंद लीजिये. अब जब आप जन चुके है की गोंद की बर्फी (Gond Burfi) कैसे बनाते है. तो क्यों न इस जनमष्टमी पर इसको बनाया जाये.

क्या आप भी जन्माष्टमी पर घर पर ही पकवान बनाते है? अपने विचार हमारे साथ साँझा करे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके.

You May Be Interested

Leave a Reply